रेलगाड़ियों में अनाधिकृत / अनावश्यक रुप से अलार्म चैन पुलिंग वाले यात्रियों के प्रति रेल प्रशासन सख्त।

झाँसी मंडल के मंडल रेल प्रबंधक दीपक कुमार सिन्हा के दिशानिर्देशन तथा वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त विवेकानंद नारायण के नेतृत्व में रेल सुरक्षा बल द्वारा सघन कार्यवाही करते हुए वर्तमान वित्तीय वर्ष में अब तक (01 अप्रैल से 21 मई 2024) में बिना पर्याप्त कारण के अलार्म चैन खींचने वाले 336 प्रकरण सामने आये ,जिसमे 335 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया एवं रेलवे एक्ट की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत उचित वैधानिक कार्यवाही करते हुए रुपये 81,575/- का जुर्माना वसूल किया गया । 

झाँसी मंडल यात्रियों की सुरक्षा तथा उनको समय से उनके गंतव्य तक पहुंचाने हेतु दृढ़ संकल्पित हैI यात्रियों की सुरक्षा से कोई समझौता किये बिना सभी सम्बंधित व्यवस्थाओं का सख्ती से पालन कराया जा रहा हैI यात्रियों से अनुरोध है की वह बिना किसी पर्याप्त कारण के अलार्म चैन न खींचे, जिससे यात्रियों को बेहद असुविधा होती है और ट्रेन की समयपालनता प्रभावित होती है। कई बार देखा गया है कि इस प्रकार की घटना से विद्यार्थियों के एग्जाम छूट जाते है, बीमार लोंगों को समय से इलाज नहीं मिल पता है। रेलवे एक्ट के अंतर्गत इस प्रकार के कृत्य (अकारण चेन पुलिंग ) में संलिप्त पाए जाने पर 06 महीने से 01 साल की सजा एवं 1000/- रूपये ज़ुर्माने का प्रावधान है।