नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर पैदल उपरिगमी पुल एवं सिंगरौली - वाराणसी जंक्शन इंटरसिटी एक्सप्रेस के ठहराव का शुभारंभ।

दिनांक 22.02.2024 को श्रीमती अनुप्रिया पटेल जी माननीय केंद्रीय राज्यमंत्री वाणिज्य एवं उद्योग ने नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर 3 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित प्लेटफार्म संख्या 1 को प्लेटफार्म संख्या 2/3 से जोड़ने वाले पैदल उपरिगमी पुल का लोकार्पण एवं गाड़ी संख्या 13346 सिंगरौली - वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस के नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर प्रायोगिक ठहराव को हरी झंडी दिखाकर शुभारम्भ किया। इस कार्यक्रम में श्री राम शकल माननीय सांसद, राज्य सभा एवं श्रीमती रिंकी कोल, माननीय विधायक, छानबे भी उपस्थित थे ।

श्रीमती अनुप्रिया जी ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुये कहा कि रेलवे लोगों की यात्रा को सुरक्षित, सुखद और आरामदायक बनाने किए लिए लगातार कार्य कर रही है। ट्रेनों की गति को 130 किलोमीटर प्रतिघंटा से बढ़ाकर 160 किलोमीटर प्रतिघंटा करने पर त्वरित कार्य किया जा रहा है और साथ ही संरक्षा बढ़ाने के लिए तेजी से आरओबी व आरयूबी का निर्माण भी किया जा रहा है। नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर सिंगरौली - वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस के ठहराव से क्षेत्र के लोगों को सिंगरौली और वाराणसी से संपर्क आसान हो जाएगा जिससे क्षेत्र में शिक्षा, व्यापार और  रोजगार को बढ़ाने में सहायक होगा।                                                                                   

दिनांक 22.02.2024 से गाड़ी संख्या 13346/45 सिंगरौली – वाराणसी – सिंगरौली इंटरसिटी एक्सप्रेस का नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर ठहराव का विवरण निम्नवत है :-                  

  • गाड़ी संख्या 13346 सिंगरौली – वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस सिंगरौली स्टेशन से 05:30 बजे प्रस्थान करेगी, नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर आगमन/प्रस्थान का समय 11:40/11:41 बजे और यह गाड़ी वाराणसी जंक्शन स्टेशन पर 12:55 बजे पहुंचेगी ।
  • गाड़ी संख्या 13345 वाराणसी - सिंगरौली इंटरसिटी एक्सप्रेस वाराणसी स्टेशन से 14:10 बजे प्रस्थान करेगी, नारायनपुर बाज़ार रेलवे स्टेशन पर आगमन/प्रस्थान का समय 15:09/15:10 बजे और यह गाड़ी सिंगरौली स्टेशन पर 22:00 बजे पहुंचेगी ।

इस कार्यक्रम में मंडल रेल प्रबन्धक/प्रयागराज, श्री हिमांशु बाडोनी; वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक/ प्रयागराज श्री हिमांशु शुक्ला एवं क्षेत्र की जनता बड़ी संख्या में उपस्थित थी।