प्रधानमंत्री द्वारा किये जाने वाले पश्चिम मध्य रेल के 12 अमृत स्टेशनों एवं 21 आरओबी/आरयूबी/सबवे के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रम के पूर्व विविध प्रतियोगिताओं का आयोजन।

पश्चिम मध्य रेल के क्षेत्राधिकार में मुख्यतः मध्य प्रदेश एवं राजस्थान दो राज्य हैं। पश्चिम मध्य रेल इन राज्यों में रेल बुनियादी ढाँचे को बेहतर और उन्नत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। वतर्मान में पश्चिम मध्य रेल में रेल विकास की विभिन्न परियोजनाओं के कार्य प्रगति पर है। पश्चिम मध्य रेल का अधिकांशतः भाग मध्य प्रदेश राज्य के अंतर्गत आता है। इस वर्ष के बजट में मध्य प्रदेश को 15,143 करोड़ रूपये का रिकॉर्ड आवंटन प्रदान किया गया है तथा मध्य प्रदेश के 33 स्टेशनों का वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन के रूप में पुनर्विकास किया जा रहा है। इसी माह में सुनिश्चित कार्यक्रम के अनुसार संपूर्ण भारत में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी 550 से अधिक स्टेशनों के पुनर्विकास एवं 1500 रेल फ्लाई ओवर/ अंडरपास का शिलान्यास, शुभांरभ एवं लोकार्पण करेंगे। इसी के अंतर्गत पश्चिम मध्य रेल के तीनों मंडलों के 12 रेलवे स्टेशनों का अमृत स्टेशन योजना के तहत पुनर्विकास का शिलान्यास एवं 21 आरओबी/आरयूबी / सबवे का शिलान्यास एवं लोकार्पण भी शामिल है।

इस कार्यक्रम के अन्तर्गत पश्चिम मध्य रेल के अमृत स्टेशनों एवं आरओबी/आरयूबी / सबवे पर आधारित विविध प्रतियोगिताएं जैसे निबंध, ड्राइंग पेंटिंग एवं वाद-विवाद आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें प्रमुख स्कूलों के बच्चों ने अपनी सहभागिता प्रदान की। कुल 151 स्कूलों में इन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग 11 हजार 800 छात्र-छात्राओं द्वारा भाग लिया गया। इसके आलावा शिलान्यास, शुभांरभ एवं लोकार्पण कार्यक्रम के लिए सुनिश्चित पमरे के अमृत स्टेशनों एवं आरओबी/आरयूबी / सबवे की साइटों पर भी उक्त प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग 7300 से अधिक बच्चों ने भाग लिया। उपरोक्त प्रतियोगिताओं में कुल 587 छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत करने हेतु चयनित किया गया है। साथ ही बच्चों के द्वारा अलग-अलग सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति भी दी गयी। कार्यक्रमों में विशिष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं का चयन विभिन्न स्थानों पर होने वाले कार्यक्रम में प्रस्तुति देने हेतु किया गया है।

Source - WCR